04-Sep-2009


मेरा कद

कद है मेरा छोटा तो क्या गम है
है बड़ी आन बान मेरी
कुछ कर गुजरने का है जज्बा
गैरों को अपनाना, बच्चों से मुहब्बत
दिलों पर करना राज, है यही मेरी पहचान

कद है मेरा छोटा तो क्या गम है
है बड़ी आन बान मेरी
धैर्य, साहस, विशवास, प्रेम
है यही गहना मेरा

बाह्य आडम्बरों से दूर
आलोचना, ईर्ष्या से
है नही कोई रिश्ता मेरा
हैं उसूल कुछ मेरे भी

रस्म रिवाजो परम्पराओ को
अन्धे नियम-कानून को
नही देती ताह्रिर मै

कद है मेरा छोटा तो क्या गम है
है बड़ी आन बान मेरी..




No comments: